Advertisement
HomeChat Log InSing Up
पांच प्रदर्शनकारी भेजे गए नैनी जेल
जासं, इलाहाबाद : शिक्षा निदेशालय में मंगलवार को नौकरी मांगने आए बीएड टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों पर प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने लाठी चार्ज कर खदेड़ दिया था। इस दौरान पांच युवकों व छह महिला अभ्यर्थियों को पुलिस ने हिरासत में लिया था। पकड़े गए युवकों का पुलिस ने बुधवार को शांतिभंग में चालान कर दिया, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में नैनी जेल भेज दिया गया। महिलाओं को सिविल लाइंस थाने की पुलिस ने मुचलके पर छोड़ दिया।1शिक्षा निदेशालय में मंगलवार को नौकरी मांगने आए हजारों युवाओं ने प्रदर्शन करते हुए निदेशालय के कर्मचारियों को बंधक बना लिया था। देर शाम एसपी सिटी राजेश यादव की मौजूदगी में पुलिस ने लाठी चार्ज कर युवाओं को खदेड़ा। भगदड़ में कई युवक घायल हो गए थे। इस दौरान पुलिस ने मौके से हाथरस के कृष्ण कुमार, आजमगढ़ के पंकज कुमार, बस्ती के अजय शंकर सिंह, बलिया के विजय शंकर और प्रतापगढ़ के मनोज कुमार समेत छह महिलाओं को हिरासत में ले लिया था। पकड़े गए सभी लोगों को सिविल लाइंस थाने लाया गया। बुधवार को युवकों का पुलिस ने शांतिभंग में चालान कर दिया। सदर एसडीएम कोर्ट से युवकों को जमानत नहीं मिली, उन्हें कोर्ट से 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया है। महिलाओं को पुलिस ने मुचलका पर छोड़ दिया है।1कड़े पहरे में रहा शिक्षा निदेशालय : शिक्षा निदेशालय में मंगलवार को हंगामा होने के बाद बुधवार को भी प्रदर्शनकारी युवाओं के जुटने की आशंका थी। इसको देखते हुए बुधवार की सुबह से ही निदेशालय के अंदर और बाहर बड़ी संख्या में पुलिस कर्मी तैनात किए गए थे। जिसका परिणाम रहा कि सुबह से लेकर शाम तक निदेशालय में सन्नाटा पसरा रहा। पुलिस अधिकारियों की निगाह निदेशालय पर टिकी रही। वह मातहत अधिकारियों से हर एक घंटे में निदेशालय की गतिविधि की जानकारी लेते रहे। 1टीईटी अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज की निंदा : शिक्षा निदेशालय पर आंदोलन कर रहे टीईटी धारकों पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किए जाने पर सर्वदलीय पार्षद व पूर्व पार्षदों ने निंदा की। वरिष्ठ पार्षद शिव सेवक सिंह, कमलेश सिंह, चंद्रशेखर बच्चा, अर्शिया मुस्लिम, मो. मुस्लिम ने कहा कि वह लाठीचार्ज की कटु भर्त्सना करते हैं। उन्होंने प्रदर्शनकारी टीईटी धारकों पर दर्ज मुकदमों को बिना शर्म वापस लेने की मांग की।
Controler
back
home
logout
Advertisement

:=: